मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान बताइए -सम्पुर्ण जानकारी 2024

मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान की बात करे तो ये एक एन्टीडीपिग्मेंटेशन स्किन क्रीम है जिसका कार्य हाईपरपिगमिन्टेशन जोकि एक प्रकार का तीव्र मेलास्मा होता है उसके ईलाज मे किया जाता है

Table of Contents

इसके अलावा हमारे चेहरे से दाग धब्बे कालापन दुर करके इसे साफ करना है इसके कई तरीके साईड इफेक्ट भी है ।

यह क्रीम यूनिवर्सल टिन लेब्स कम्पनी द्वारा निर्मित किया जाता है इसमे हाइड्रोकिनोन 00.2 प्रतिशत ट्रेटिनोइन 00.25 प्रतिशत मोमेटासोने 00.2 प्रतिशत के अनुपात मे होते है

जोकि हमारे नजदीकी स्टोर पर आसानी से उपलब्ध है। यह 15 ग्राम के टूयूब के रुप मे आता है।

आज इस आर्टिकल मे हम हमने मेलामेट क्रीम को लेकर सम्पुर्ण जानकारी देगें जोकि अपके लिए बेहद फायदेमन्द है जिसको पढ कर 50 से ज्यादा लोगो ने इस क्रीम का पुरा लाभ उठाया है।

हाईड्रोक्यूनॉन

यह मेलामेट क्रीम का सबसे जरुरी तत्व है जिसका काम हमारे चेहरे को गोैर करने और टेनिंगए सावला चेहराए कालें दागहाईपरपिगमन्टेशन को दुर करने मे सहायक है

मोमेटासोन

यह एक क्राटिएस्टोराईड होता है जोकि हमारी चेहरे की स्कीन के लिए बेहद जरुरी होता है यह हमारे चेहरे पर खुजलीए जलन और दाग को खत्म करने मे मदद करता है अक्सर जिनकी सेंसटीव स्कीन होता है उनको इस इसको प्रयोग अधिक किया जाता है

ट्रेटीनोइन 

यह एक जरुरी तत्व है जोकि हमारे चेहरे की स्कीन मे होने वाली झुरियाए डेड स्कीन को खत्म करने मे मदद करता है। यह एक विटामिन ए का स्त्रोत है जोकि हमारे चेहरे की बेजान त्वचा को अन्दर से ठीक करता है और नई सेल्स को आने मे भी मदद करता है

मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान

मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान बताइए
एक महिला जोकि अपने चेहरे पर क्रीम लगाते हुये

मेलामेट क्रीम का उपयोग चेहरे पर होने वाले विभिन्न की समस्याओ जैसे दागए चेहरे का मुरझना और सुजन जैसी समस्याओ मे यह क्रीम काफी फायदेमंद हे मेलामेट क्रीम के कई सारे फायदं और नुकसान है आईए पहले जानते है फायदे के बारे मे ।

इस क्रीम मे कुल 3 तरीके के तत्वो से बना है जाकि हमारे चेहरे को निम्नलिखित फायदे देता है।

चेहरे को गोरा बनाना 

अकसर प्रदुषण और ज्यादा देर तक धुप मे रहने से हमारी त्वचा का रंग दब जाता है और जिससे हमारा चेहरा काला दिखाई देता है इस सबका ईलाज मेलामेट क्रीम के पास है

जहा पर इसमे मौजुद हाईड्रोक्यूनॉन हमारी स्कीन को गौरा करने मे मदद करता है और हमारे चेहरे को मेलिनन को कम करता है जोकि हमारे चेहरे को सावले बनाने मे मदद करता है

हाईड्रोक्यूनॉन इसको स्त्राव को कम कर देता है जिस कारण हमारे चेहरा गौरा होना शुरु हो जाता है।

काले धब्बे और दाग खत्म करने मे 

हमारे चेहरे पर गलत क्रीम और अन्य सामग्री लगाने के कारण हमारे चहरे पर दाग, काले निशान और धब्बे पड जाते है जिसके कारण हमारे चेहरा ज्यादा काला और सावला लगाता है

लेकिन मेलामेट मे मौजुद मोमेटासोने हमारे चेहरे के अन्दर से काले दाग, धब्बे और मेलास्मा के कारण पडे निशान को खत्म कर देता है जिस कारण हमारा चेहरा पहले से ज्यादा साफ लगता है और चेहरे पर निखार भी आता है।

डार्क र्स्कल खत्म करने मे 

अनियमित निद्रा और गलत रहन सहन के कारण हमारे आखो के नीचे डार्क सर्कल बन जाते है जोकि हमारे चेहरे पर काफी खराब लगते है जिसमे मेलामेट क्री काफी उपयोगी है इसका इस्तेमाल चेहरे से डार्क सर्कल हटाने मे काफी मदद करता है।

सेन्सटीव और रुखी त्वचा को सही करने मे

अकसर गलत साबुन और क्रीम के ईस्तेमाल से हमारी त्वचा रुखी और संवेदनशील हो जाती है जिस कारण उसके लाल चकत्ते पडने लगते हैए जिसमे यह क्रीम काफी ज्यादा कारगर साबित होती है

इसमे मौजुद  मोमेटासोने  हमारे चेहरे से को प्रोस्टेग्रालाईन नाम की केमिकल स्त्राव रोक देता है जोकि हमारे चेहरे पर खुजली और सुजन के लिए जिम्मेदार होते है जिस कारण हमारे चेहरे पर रुखी, दाने और खुजल, सुजन जेसी समस्या नही होती है।

चेहरे की सूजन और लालिमा खत्म करने मे

अकसर हमारे चेहरे पर ज्यादा सूर्य के सम्पर्क मे आने से पर लालिमा और सुजन आ जाती है जिस कारण हमारा चेहरा बन्दर कि तरह लाल दिखाई देता है इस स्थिति मे मेलामेट क्रीम का उपयोग काफी कारगर है

जहा पर इसमे मौजुद विभिन्न मामेटासोना फुरोएट एवं कार्टिको स्टेरॉयड हमारे चेहरे की सूजन और लालिमा को खत्म करने मे मदद करता है। और उसको निखार लाता  है।

हाइपरपिगमेंटेशन के ईलाज में

मेलामेट क्रीम का प्रयोग हमारे चेहरे पर हाईपरपिगमेंटेशन जोकि चेहरे पर एक विकार होता है इसे तीव्र मेलास्मा भी बोलते है जिससे चेहरे पर का रंग दब जाता है और चेहरा काला पड जाते है

उसके ईलाज मे इसका प्रयोग होता है इस क्रीम का ईस्तेमाल नियमित रुप से किया जाने पर यह हाईपरपिगमेटेशन से पुरी तरीेके से छुटकारा दिलाता है।

मेलास्मा के ईलाज में

यह एक त्वचा के सम्बन्धित विकार है जिसके कारण हमारे चेहरे पर भुरे और गहरे रंग के धब्बे पड जाते है जिसके ईलाज मे मेलामेट क्रीम काफी लाभदायक और यह हमारे चेहरे से मेलास्मा के द्वारा आये हुये निशान को पुरी तरीके से खत्म करने मे मदद करता है।

मेलामेट क्रीम के नुकसान

मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान
इस तस्वीर मे 3 महिलाओ की फोटो है जिनको अलग अलग स्कीन समस्याऐ है

मेलमोट क्रीम के फायदे के बारे मे हमने जाना अब जानते हे इसके नुकसान क्या हो सकते है। मेलामेट क्रीम को हमेशा डाक्टरी सलाह से ही उपयोग करना चाहिए अन्यथा इस तरीके के साईड इफेक्ट देखने को मिल सकते है।

चेहरे का काला होना

मेलामेट क्रीम का कार्य हमारे चेहरे को गोरा बनना है लेकिन कभी कभी सही से उपयोग ना करने पर यह उल्टा असर दिखाना सुरु करता है और आपको पहले से ज्यादा सावला और काला बना देता है

जोकि काफी खराब होता है अकसर से लक्षण उन लोागो मे देखे जाते हैजो बिना डाक्टरी सलाह से इस क्रीम का प्रयोग करते है।

त्वचा को लाल हो जाना

मेलामेट क्रीम के प्रयोग से आपका चेहरा लाल हो सकता है अगर आप मेलामेट को प्रयोग नियमित रुप से करते है एव सावधानियां नही रखते है जिस कारण आपको यह समस्या देखने को मिल सकती है

चेहरे पर दाने आना

मेलामेट क्रीम मे विभिन्न प्रकार के तत्व तथा केमिकल होते है जोकि हमारे हार्माेन्स और चेहरे की त्वचा पर बदलाव करते है जिसके कारण क्रीम का सही से उपयोग करना बेहद आवश्यक है

इस क्रीम का अनियमित एवं गलत तरीके से प्रयोग आपको चेहरे पर दाने और फोडे दे सकता है।

चेहरे पर सुजन होना

मेलामेट क्रीम का अधिक या सही से उपयोग ना करने के कारण चेहरे पर सुजन की समस्या आ जाती है जोकि गम्भीर परिमाण दे सकती है ऐसा अकसर क्रीम का गलत तरीके से प्रयोग या अधिक मात्रा मे लगाने से होता है।

चेहरे पर खुजली होना

मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल चेहरे पर खुजली की समस्या उत्पन्न करा सकता है यह अकसर क्रीम का गलत तरीके से इस्तेमाल करना और क्रीम का सही से खुराक और देखभाल ना करने के कारण हमारे चेहरे पर खुजली की समस्या होती है।

चेहरे पर जलन महसुस होना

मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल से चेहरे पर जलन की समस्या हो सकती है यह एक प्रकार की हाईपरपिगमेन्टेशन क्रीम है जोकि चेहरे पर जलन की समस्या दे सकती है यह अकसर क्रीम सही से उपयोग ना करने के कारण होती है

खुराक

बच्चे (2 से 14 साल तक)

बच्चो के लिए यह क्रीम बिल्कुल उपयोगी नही है क्योकि बच्चो की त्वचा काफी नाजुक और सवेंदनशील होती है। मेलामेट क्रीम का उपयोग मेलास्मा और चेहरे पर दाग धब्बो के ईलाज मे किया जाता है।

बडे (18 से 40 साल तक)

बडो मे इस क्रीम का प्रयोग डाक्टरी सलाह से दिन मे 1 बार करना सही होता है यह क्रीम के प्रयोग के बाद चेहरे पर काफी सावधानी बरतने की जरुरत होती है।

बुज़ुर्ग

बुजुर्गा मे इस क्रीम के प्रयोग से पहले डाक्टरी सलाह जरुर ले यह क्रीम काफी ज्यादा तीव्र स्टेरॉयड से मिलकर बनी है इसलिए इसका प्रयोग काफी सावधानी से और डाक्टरी सलाह से करे,

मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल कैसे करें | मेलामेट क्रीम कैसे लगाएं

मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान के आलावा इसका इस्तेमाल कैसे करना है यह एक बेहद अहम विषय है। मेलामेट क्रीम का प्रयोग करना बेहद आसान है इसके लिए बस आपको निम्निलिखित स्टेप को फॅालो करना होगा।

मेलामेट क्रीम कोे इस्तेमाल . मेलामेट क्रीम एक विभिन्न प्रकार की एण्टीमेलाज्मा क्रीम है

जिसका इस्तेमाल अगर सावधानी से नही किया जाये तो आपको इसके दुष्परिमाण देखने को मिलते है।

इसलिए मेलामेट क्रीम का प्रयोग करने के लिए निम्नलिखित स्टेपो का प्रयोग करें

step -1 डाक्टरी परमार्श

मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल हर त्वचा के लिए अलग तरह सेे होता है जिसके विशेष मे अपने स्कीन डाक्टर से सम्पर्क kre

वो आपके चेहरे की हिसाब से मेलामेट क्रीम की कितनी मात्रा मे इस्तेमाल करना है उसपे मार्ग दर्शन करेगा एक अच्छं माश्चराईजर का प्रयोेग करें

step -2मेलामेट क्रीम टेस्ट

मेलामेट क्रीम का प्रयोग करने से पहले इसका छोटा सा टेस्ट करे उसको अपने हाथ की हथेली पर लगाये

सुनिश्चित करें की यह आपके स्किन पर जलन और दर्द का आभास नही हो रहा है ऐसा होने पर क्रीम का इस्तेमाल तुरन्त बन्द कर दें।

step -3चेहरे को अच्छे से धोना

मेलामेट क्रीम का प्रयोग करने से पहले जहा पर उसका उपयोग हो रहा है

उस जगह को साबुन की मदद से अच्छी तरीके से धो कर साफ करना बेहद जरुरी है ताकि चेहरे पर मौजुद तेल और गन्दगी अच्छी तरीके से साफ हो जाये

step -4 तौलिये से साफ करना

पानी से चेहरे का अच्छी तरीके से साफ करने के बाद एक सुखे हुये तौलिये से अच्छे से साफ करे ताकि चेहरे पर पानी बाकी ना रह जाये और चेहरे पर कोई तेल और पानी बाकी ना रह जाये और चेहरा रुखा हो जाये, जिससे क्रीम अच्छे तरीके से स्कीन मे समा सके।

step – 5मेलामेट लगाने का तरीका

मेलामेट क्रीम को उगलियो के मदद से निकाल कर चेहरे पर लगाये और फिर उसको अपने दोनो हाथो के मदद से फलाये और उसको अपने चेहरे पर अच्छी तरह से मसाज करे

ताकी क्रीम चेहरे के चारो तरफ लग जाये और ध्यान रहे क्रीम का प्रयोग आखो पर ना करें। इस क्रीम का प्रयोग घावरहित जगह पर करें

step -6नाईट क्रीम की तरह कर प्रयोग

क्रीम का इस्तेमाल नाईट क्रीम की तरह करे ताकि यह क्रीम रात भर मे आपके चेहरे को अच्छा पोषण दे सकें।

step -7 मेलामेट क्रीम का नियमित इस्तेमाल करे

मेलामेट क्रीम का नियमित और अच्छा परिमाण के लिए क्रीम का नियमित रुप से और लम्बे समय के लिए इस्तेमाल करे

ताकि यह क्रीम आपको बेहतर रिजल्ट दे सके, बिना डाक्टरी सलाह से इस क्रीम का प्रयोग 6 से 7 हफते से ज्यादा ना करें।

step -8 त्वचा की देखभाल करे

मेलामेट क्रीम का प्रयोग के साथ साथ अपने चेहरे पर विशेष ध्यान दे, चेहरे को धुल मिटटी प्रदुशण से बचा के रखे

चेहरे पर अच्छी और केमिकल फ्री क्रीम का इस्तेमाल करें। जोकि भविष्य मे आपको एक अच्छा त्वचा देने मे मदद करेगा।

  • मेलामेट क्रीम का प्रयोग हमोर चेहरे पर हमेशा एक त्वचा विशेज्ञय और निर्देशो पर करे।
  • मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल करने से पहले इस अपने चेहरे को अच़्छी तरह से साफ करें
  • मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल के साथ साथ अपने चेहरे को धुल और प्रदुषण से बचा कर रखे।
  • मेलामेट क्रीम घाव और चोट वाली जगह पर लगाने से बचे|
  • गर्भधारण के के दौरान इय क्रीम का उपयोग डाक्टरी सलाह ये करें।
  • चेहरे पर एलर्जी या किसी भी तरह की स्किन समस्या आपको रही है तो इस क्रीम से बचे।
  • मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान कई प्रकार के हो सकते है जोकि सही और गलत इस्तेमाल पर निर्भर करता है।

मेलामेट क्रीम किसको नही लगाना चाहिए

  • जिनका त्वचा सम्बन्धित गम्भीर विकार हो जैसे स्कीन कैन्सर या किसी तरह का त्वचा सम्बन्घित इन्फेक्शन
  • जिनकी त्वचा अधिक सवेदनशील हो
  • जिनका हाली मे कोई स्कीन सर्जरी और त्वचा को लेकर कोई दवा चल रही है
  • अगर आप गर्भावस्था मे हो या आपकी डिलवरी हो चुकी हो उस अवस्था मे इसक प्रयोग ना करें।

मेलामेट क्रीम कितने दिन लगाना चाहिए

मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान काफी हद तक इस बात पर निर्भर करते है कि इसका इस्तेमाल कैसे करते है। मेलामेट क्रीम को 2 से 3 महीने नियमित डाक्टरी सलाह से इस्तेमाल करना चाहिए, इसके 2 से 3 हफते मे इसके रिजल्ट दिखाई देने लगते है। बिना डाक्टरी सलाह से इस क्रीम का प्रयोग 2 से 3 हफते से ज्यादा ना करे अन्यथा चेहरे का लाल होना, भुरे चक्ते ना जैसे साईड इफक्ट देखने को मिल सकते है।

मेलामेट क्रीम किस प्रकार काम करता है

मेलामेट क्रीम एक एण्टीमेलाज्मा क्रीम जोकि चेहरे के अन्दर समा के उसमे मौजुद दाग धब्बे, लालिमा, भुरे चक्ते को ठीक करने मे मदद करता है।

इसका प्रमुख इस्तेमाल मेलास्मा जोकि एक त्वचा सम्बन्धित विकार है उसके ईलाज मे किया जाता है, यह क्रीम 3 तरीके से काम करती है

सबसे पहले यह मेलिनिन नाम के केमिकल को स्त्राव बन्द करती है जोकि त्वचा को सावला करने मे सहायक है

इसके बाद यह चेहरे पर लालीमा और खुजली जैसी समस्याओ को ठीक करती है और अन्दर से नमी बनाऐ रखने मे मदद करती है

इसके अलावा यह हमारे डेड स्कीन को खत्म करके अन्दर से ठीक करती है और नई सेल्स पैदा करती है

मेलामेट क्रीम का भण्डारण

मेलामेट क्रीम का का भण्डारण 30 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर कर जा सकता है।

मेलामेट क्रीम कब लगाना चाहिए

मेलामेट क्रीम का उपयोग प्राय रात्रि मे करना सही रहता है जिससे हमारे चेहरे की त्वचा अच्छे तरीके से समा सके और अच्छे रिजल्ट दे सके।

मेलामेट क्रीम का रात्रि मे प्रयोग से वा प्रदुषण और धुप से भी बचाया जाता है।

मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल कैसे रोके

मेलामेट क्रीम को बन्द करते समय क्रीम की जगह एक अच्छी नाईट क्रीम का इस्तेमाल करें, इसमे और मामाअर्थ और ओले जैसी कम्पनी की तरफ रुख कर सकते है,

इसके अलावा मेलामेट क्रीम के इस्तेमाल बन्द करने के बाद भी लगभग 4 से 5 महीने से अपने चेहरे को धुल मिटटी और धुप से बचा कर रखे,

चहरे पर अच्छी सनस्क्रीन (विएलसीसी,र्गानियर) का प्रयोग करे, चेहरे पर एक अच्छी कम्पनी की हर्बल क्रीम ईस्तेमाल करे

इसके अलावा, मेलामेट क्रीम के छोडने के बाद अगर किसी भी प्रकार का साईडइफेक्ट देखने को मिले तो अपने स्कीन डाक्टर से सम्पर्क करें

melamet cream uses in hindi

चेहरे का साफ करने मे

अक्सर धुप और प्रदुषण के कारण् हमारे चेहरा सवला और रंग दब जाता है जोकि देखने मे काफी खराब लगता है इस समस्या के ईलाज के लिए मेलामेट क्रीम का प्रयोग किया जाता है

इसमे मोजुद हाईड्रोक्विनोन हमारे चेहरे से  पिगमेंटेशन  को कम करता है इसके अलावा यह चेहरे पर मेलनिन के उत्पाद को रोकता है

जोकि हमारे त्वचा को सवाला करने की जिम्मेदार है। जिससम हमारे चेहरे का रंग साफ होता हे और चेहरा गोरा दिखता है।

रुखी बेजान त्वचा को सही करने मे

मेलामेट क्रीम का प्रयोग अक्सर डाक्टरो द्वारा रुखी और बेजान चेहरे की स्कीन को ठीक करने के लिए किया जाता है। इसमे मोजुद ट्रेटीनोइन जोकि विटामिन ए का बहुत अच्छा स़्त्रोत होता है

वो हमारे अन्दर से खराब हो चुकी स्कीन सेल्स को रिपेयर करता है और नई स्कीन को लाने मे मदद करता है जिससे हमारे चेहरे की नई स्कीन का जन्म होता है।

दाग और निशान का मिटान मे

मेलामेट क्रीम का प्रयोग दाग धब्बे और निशान के ईलाज मे भी डाक्टरो द्वारा इस क्रीम का प्रयोग किया जाता है

यह क्रीम मे मोजुद विभिन्न प्रकार के तत्व और स्टेरॉयड हमारे चेहरे को से दाग और निशान को हल्का करके खत्म कर देते है जिसके कारण् हमारे चेहरा पहले से ज्यादा साफ दिखने लगता है।

नई स्कीन का निर्माण करने मे

मेलामेट क्रीम का प्रयोग हमारे चेहरे हमारे चेहरे पर बेजान हो चुकी त्वचा को खत्म करके नई त्वचा लाने मे मदद करता है

मेलामेट क्रीम मे मौजुद विटामिन ए हमारे चेहरे के स्कीन को अन्दर से ठीक करके नई सेल्स बनने मे मदद करता है।

मेलास्मा मे ईलाज मे

अक्सर गलत क्रीम का चेहरे पर उपयोग, हार्माेन्स, गर्भावस्था के कारण हमारे चेहरे पर भुरे गहरे रंग के छोटे छोट निशान बन जाते है जोकि मेलास्मा का कार्य करते है

इसके ईलाज के लिए मेलामेट क्रीम का ईस्तेमाल किया जाता है इस क्रीम मे मौजुद विभिन्न प्रकार के तत्व जोकि मेलास्मा को असर को कम करता है और फिर हल्का करके धीरे धीरे पुरी तरीके से खत्म कर देता है

हाईड्रोक्यूनॉन

यह मेलामेट क्रीम का सबसे जरुरी तत्व है जिसका काम हमारे चेहरे को गोैर करने और टेनिंगए सावला चेहराए कालें दागहाईपरपिगमन्टेशन को दुर करने मे सहायक है

मोमेटासोन

यह एक क्राटिएस्टोराईड होता है जोकि हमारी चेहरे की स्कीन के लिए बेहद जरुरी होता है यह हमारे चेहरे पर खुजलीए जलन और दाग को खत्म करने मे मदद करता है अक्सर जिनकी सेंसटीव स्कीन होता है उनको इस इसको प्रयोग अधिक किया जाता है

ट्रेटीनोइन 

यह एक जरुरी तत्व है जोकि हमारे चेहरे की स्कीन मे होने वाली झुरियाए डेड स्कीन को खत्म करने मे मदद करता है। यह एक विटामिन ए का स्त्रोत है जोकि हमारे चेहरे की बेजान त्वचा को अन्दर से ठीक करता है और नई सेल्स को आने मे भी मदद करता है

मेलामेट क्रीम से जुडे सवाल

Melamet Cream kis liye hai ?

मेलामेट क्रीम चेहरे पर होने वाले विभिन्न प्रकार की समस्यो जैसे काले धब्बे, डार्क सर्कल, सेन्सटीव स्कीन, चेहरे पर लालिमा, लाल चेकते जैसी समस्याओ को दुर करने के लिए डाक्टरो द्वारा दिया जाता है।

ईस क्रीम मे हाईडोक्विनोन,त्रेटिनाईन, मामेटासोना फुरोएट जैसी तत्व मोजुद होते है जोकि चेहरे के लिए गोरा करने और रंग को साफ करने मे मदद करता है।

मेलामेट क्रीम कब लगाया जाता है

मेलामेट क्रीम चेहरे पर होने वाले विभिन्न प्रकार की समस्यो जैसे काले धब्बे, डार्क सर्कल, सेन्सटीव स्कीन, चेहरे पर लालिमा, लाल चेकते, सुजन जैसी समस्या होने पर डाक्टर द्वारा मरीजो जोक उपरोक्त दिये गये लक्ष्णो के ईलाज मे दिया जाता है।

मेलामेट क्रीम कैसी है

मेलामेट क्रीम एक प्रकार स्कीन क्रीम है जोकि चेहरे पर होने वाले लाल धब्बे, डार्क सर्कल, स्कीन मेलाज्मा, सुजन और चेहरे पर फोडे होने की स्थिति मे इसका प्रयोग किया जाता है।

इसमे मौजुद हाइडोकिनोन ट्रेटिनोइन, मोमीटॉसोनफीरोइड नाम के तत्व हमारे चेहरे को साफ करके गौरा बनाने मे मदद करता है।

इस क्रीम का अधिक समय तक प्रयोग त्वचा पर विभिन्न प्रकार के साईड इफेक्ट भी देखने को मिलते है इसलिए इसका प्रयोग हमेशा डाक्टरी सलाह से करें

मेलामेट क्रीम क्या काम आती है

मेलामेट क्रीम एक प्रकार स्कीन क्रीम है जिसका स्तेमाल मेलास्मा से होने वाली चेहरे की समस्याओ के लिए किया जाता है जिसमे चेहरे पर हल्क भुरे रंग के चकते और धब्बे पड जाते है जोकि इस क्रीम के इस्तेमाल से सही हो जाते है। इसके अलावा इस क्रीम का प्रयोग मुहासे, झुर्रिया, और काले धब्बे के के ईलाज मे भी किया जाता है।

मेलामेट क्रीम कितने दिन लगाना चाहिए

मेलामेट क्रीम को 2 से 3 महीने नियमित डाक्टरी सलाह से इस्तेमाल करना चाहिए, इसके 2 से 3 हफते मे इसके रिजल्ट दिखाई देने लगते है। बिना डाक्टरी सलाह से इस क्रीम का प्रयोग 2 से 3हफते से ज्यादा ना करे अन्यथा चेहरे का लाल होना, भुरे चक्ते ना जैसे साईड इफक्ट देखने को मिल सकते है।

मेलामेट क्रीम कैसे बन्द करें।

मेलामेट क्रीम का को छोडने के लिए जिस समय आप मेलामेट क्रीम का प्रयोग करते है उसे एक अच्छे मास्चराईजर से बदल दे, अपने चेहरे को 2 से 3 हफते धुप से खुद को बचाये देखे की कही क्रीम छोडने के बाद कोई साईडइफेक्ट तो नही आ रहे है ऐसा होने पर डाक्टर से सम्पर्क करें ।

मेलामेट क्रीम किस काम आती है

मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल विभिन्न चेहरे के सम्बन्धित विकार जैसे काले धब्बे और दाग डार्क र्स्कल सेन्सटीव और रुखी त्वचा को सही चेहरे की सूजन और लालिमा खत्म करने मे एवं मेलास्मा से को ठीक करने कं काम आती है।

melamet cream lagane se kya hota hai

मेलामेट क्रीम का लगाने से हमारे चेहरे का रंग साफ होता है और इसक अलावा काले धब्बे और दाग डार्क र्स्कल सेन्सटीव और रुखी त्वचा को सही करने के लिए भी इस क्रीम को डाक्टरो द्वारा दिया जाता है इस क्रीम का प्रयोग रात्रि मे किया जाना का अच्छे रिजल्ट देती है इसके रिजल्ट प्राय 4 से 5 हफते मे आते है।


मेलामेट क्रीम लगाने से क्या फायदा होता है?

मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल मेलास्मा,दाग धब्बे, और दाने के ईलाज मे किया जाता है, इसका नियमित इस्तेमाल डेड स्कीन, सुजन त्वचा पर खुजली, धुप के कारण लाल पड चुके चेहरे के ठीक करने मे मदद करता है, इसका डाक्टरो की सलाह से ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए, प्रयोग के साथ साथ चेहरे को धुल मिटटी प्रदुषण और धुप से बचा कर रखना चाहिए

क्या मेलामेट क्रीम से काले धब्बे दूर हो सकते हैं?

मेलामेट क्रीम का प्रयोग दाग धब्बे और चेहरे पर दाने के ईलाज मे किया जाता है। इस क्रीम मे मोमेटासोन  ना का तत्व पाया जाता है जोकि हमारे चेहरे से दाने और दाग धब्बे को ठीक करने मे मदद करता है।

क्या मेलामेट चेहरे के लिए अच्छा है?

मेलामेट क्रीम का प्रयोग भुरे रंग के चकत्ते जिसे हम पीगम्नटेंशन या मेलास्मा बोलते है उसके ईलाज मे किया जाता है, यह त्वचा से मेलास्मा के अलावा डार्क र्स्कल खत्म करने मे,सेन्सटीव और रुखी त्वचा को सही करने मे,चेहरे की सूजन और लालिमा खत्म करने मे,हाइपरपिगमेंटेशन के ईलाज मे इसका प्रयोग किया जाता है आपको बता दे की यह एक स्टेरॉयड क्रीम है जिसका प्रयोग हमेशा डाक्टरी सलाह से करना चाहिए

क्या मैं गर्भावस्था के दौरान मेलामेट क्रीम का उपयोग कर सकती हूं?

गर्भावस्था के दौरान मेलामेट क्रीम का प्रयोग नही करना चाहिए क्योकि मेलामेट क्रीम एक स्टेरॉयड क्रीम है और गर्भावस्था के दौरान महिलाये अन्य दवाओ का सेवन भी करते है। जोकि मेलामेट क्रीम प्रभाव पर असर डाल सकते है और गम्भीर परिमाण भी देखने को मिल सकते है।

मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान
Rate this post

Leave a Comment